Breaking News
02/06/2017 - भाई-भाई के प्यार को दर्शाता ‘ट्यूबलाइट’ का दूसरा गाना ‘नाच मेरी जान’ रिलीज
02/06/2017 - भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने कैश ट्रांजैक्शन चार्ज पर दी सफाई : 25 रुपये का चार्ज लगेगा लेकिन केवल…
02/06/2017 - आपका ‘आधार’ सुरक्षित है, केंद्र सरकारी वेबसाइटों पर लेकर आया नया सेफगार्ड
02/06/2017 - कॉमेडी वालों की ख़बरें: भारती की हुई सगाई , कपिल शर्मा अस्पताल में भर्ती
02/06/2017 - मर के जिंदा हुए शाहरुख खान, जानिए क्या है पूरा मामला
18/05/2017 - 23 मई से शुरू होगा PAYTM का पेमेंट बैंकः जानें आपके वॉलेट के पैसे का क्या होगा
18/05/2017 - सेंसेक्स रिकॉर्ड ऊंचाई से उतरा, शुरुआती कारोबार में 222 अंक गिरा
18/05/2017 - महेंद्र सिंह धोनी की छक्‍कों से सजी पारी के कायल हुए क्रिकेट के दिग्‍गज
02/05/2017 - पीएम मोदी का अधिकारियों को निर्देश- तेज हो बेनामी संपत्ति के खिलाफ कार्रवाई
02/05/2017 - एंड्रॉयड यूजर्स के लिए WhatsApp में मिलेगा पिन चैट फीचर, ऐसे करें इसे यूज
24 घंटे मिलेगी बिजली, निगम बना रहा स्मार्ट सोलर सिटी प्लॉन

24 घंटे मिलेगी बिजली, निगम बना रहा स्मार्ट सोलर सिटी प्लॉन

शहरके लोगों को 24 घंटे बिजली मिल सके। इसके लिए नगर निगम स्मार्ट सोलर सिटी का प्लॉन तैयार कर रहा है। इसके तहत अक्षय ऊर्जा विभाग की मदद ली जा रही है। नगर निगम लोगों के समाधान को हिस्सा बनाकर शहर को सोलर सिटी में तब्दील करने की योजना बना रहा है। जो जैसा चाहेगा, उसे वैसे ही रिन्यूवल एनर्जी (सोलर ऊर्जा) का हिस्सा प्राप्त हो सकेगा।

इतनेखर्च पर अभी प्राप्त हो सकती ऊर्जा

नगरनिगम सूत्रों के अनुसार इस मॉडल के तहत पूरे शहर को एक से दो वर्ष के अंदर सोलर ऊर्जा देने की योजना है। इस योजना के तहत आम आदमी के लिए कम से कम 1 किलोवॉट क्षमता वाला सोलर पैनल ऊर्जा के लिए लगाने का प्रावधान है। इससे उसे साल की 1500 यूनिट ऊर्जा या बिजली प्राप्त हो सकेगी। सर्दी में आम आदमी इसके साथ सोलर हीटर लेकर गर्म पानी भी प्राप्त कर सकता है। 75 हजार रुपए इसके लिए लोगों को खर्च करने पड़ेंगे। करीब 20 वर्षों की सोलर पैनल की गारंटी होगी। मतलब 20 वर्षों तक लोग बिना किसी परेशानी के ऊर्जा प्राप्त कर सकेंगे।

इस प्रकार बनेगा सोलर सिटी मॉडल

स्मार्टसिटी के तहत शहर को सोलर सिटी बनाने के लिए नगर निगम लोगों के समाधान के तहत ही इस योजना को तब्दील करने जा रहा है। शहर के सभी वर्गों के साथ नगर निगम अधिकारी बैठक करेंगे। उनकी रॉय इस मामले पर ली जाएगी। क्योंकि देखा गया है कि कई लोगों की जरूरत होती है कि वह एक पंखा और एक बल्ब जला लें। जबकि कइयों को बहुत ज्यादा जरूरत होती है। इसलिए जरूरत के हिसाब से लोगों तक सोलर ऊर्जा पहुंचाने के लिए ही सोलर सिटी मॉडल तैयार किया जा रहा है।

बिजली भी होगी जरूरी

शहरको सोलर सिटी में तब्दील करने का यह मतलब नहीं कि शहर को बिजली विभाग की जरूरत नहीं पड़ेगी। केवल इस योजना से बिजली की भी बचत होगी। इस प्रकार लोगाें को 24 घंटे बिजली प्राप्त हो सकेगी।

फरीदाबाद. सोलरपैनल।

हम ऐसा मॉडल तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं। जिसमें लोग अपनी जरूरत के हिसाब से सौर ऊर्जा का इस्तेमाल कर सकेंगे। इसमें गरीबाें को छूट दी जाएगी। अपने हिसाब से क्षमता को लोग बढ़ा सकेंगे। इतनी क्षमता वह प्राप्त कर सकते हैं। उन्हें फिर बिजली सप्लाई की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। लेकिन इसमें 24 घंटे के हिसाब से ऐसा प्लॉन बनाया जा रहा है। जिसमें उनका बिजली खर्च कम हो जाएगा। और उनकी बिजली जाने की समस्या कभी नहीं रहेगी। इसके अलावा उन्हें सौर ऊर्जा के लिए भी अधिक पैसे खर्च नहीं करने पड़ेंगे। -डीआरभास्कर, एसई नगर निगम

 

About author

Related Articles

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *